आमलकी एकादशी क्यों मनाई जाती है | Amalaki Ekadashi Vrat Katha

Amalaki Ekadashi Vrat Katha

“आमलकी एकादशी पर क्यों होती है आंवले के पेड़ की पूजा“ हिन्दू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व है। एकादशी का व्रत जगत के पालनहार श्री हरि भगवान विष्णु को समर्पित होता है। हर माह एकादशी पड़ती है। फाल्गुन माह में जो एकादशी पड़ती है उसे आमलकी एकादशी कहा जाता है। होली से पहले पड़ने के चलते इसे रंगभरी एकादशी भी कहा जाता है। आमलकी का हिन्दी अर्थ भारतीय आंवला होता है। आमलकी एकादशी पर आंवले
आगे पढ़ें…

होलाष्टक कब से लगेगा | Holashtak in Hindi

holashtak_in _hindi_jaishreeram

होलाष्टक विशेष: होलाष्टक क्यों होते हैं अशुभ, भूलकर भी इन दिनों में ना करें ये कार्य हिन्दू धर्म में होली का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हर वर्ष फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन होली पर्व मनाया जाता है। होली के पर्व में सभी लोग आपसी बैर भाव भुलाकर एक दूसरे से गले मिलते हैं और रंग लगाते है। पुराणों में बताया गया है कि फाल्गुन पूर्णिमा यानि जिस दिन होलिका दहन
आगे पढ़ें…

विनायक चतुर्थी : Vinayak Chaturthi Vrat Katha

vinayak_chaturthi_vrat_katha_jaishreeram

विनायक चतुर्थी विशेष: विनायक चतुर्थी के दिन क्यों नहीं देखते चांद, जाने इसके पीछे का बड़ा कारण हिन्दू धर्म में गणेश जी की पूजा का विशेष महत्व है। गणेश जी को प्रथम पूज्य भगवान के रूप में पूजा की जाती है। किसी भी शुभ कार्य की शुरूआत से पहले भगवान गणेश जी की पूजा करने का विधान है। कई श्रद्धालु भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए उनके निर्मित व्रत भी रखते है। गणेश जी के इन्हीं
आगे पढ़ें…

सोमवती अमावस्या की कथा | Somvati Amavasya Ki Katha

somvati_amavasya_ki_katha_jaishreeram

सोमवती अमावस्या विशेष: सोमवती अमावस्या पर कर लें ये उपाय, जीवन की सभी बाधाएं होंगी दूर हिन्दू धर्म में अमावस्या तिथि का बड़ा महत्व है। हर माह में अमावस्या तिथि पड़ती है। अमावस्या की तिथि को पवित्र नदियों में स्नान करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है। सोमवार के दिन जो अमावस्या पड़ती है उसे सोमवती अमावस्या कहते है। यह साल में एक या दो बार पड़ती है। सोमवती अमावस्या पर माता पार्वती और भोलेनाथ शिव
आगे पढ़ें…

महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है | Maha Shivratri Kab Hai

maha_shivratri_kab_hai_jaishreeram

महाशिवरात्रि पर इन नियमों से भोलेनाथ पर चढ़ाएं बेल पत्र, मिलेगी भोलेनाथ की असीम कृपा हिन्दू धर्म में महाशिवरात्रि पर्व का बहुत महत्व है। वैसे तो साल भर में कुल 12 शिवरात्रि आती हैं। फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि मनाई जाती है। बाकी अन्य 11 माह के कृष्ण पक्ष को जो शिवरात्रि पड़ती है वह मासिक शिवरात्रि कहलाती है। इस दिन देवों के देव महादेव और देवी पार्वती का विवाह हुआ था। ऐसी
आगे पढ़ें…

हिन्दू धर्म क्या है, क्या है इसका इतिहास और इसकी खूबियां, जानकार आप भी होंगे गर्वित | Hindu Dharm Kya Hai

हिन्दू धर्म विश्व का सबसे प्राचीन धर्म है। इस धर्म के अनुयायी सम्पूर्ण विश्व में फैले हुए है। मुख्य रूप से भारत, नेपाल और मारीशस में हिन्दुओं की संख्या सर्वाधिक है। हिन्दू धर्म समुद्र की तरह विशाल है। हिन्दू धर्म में बहुत सारी ऐसी चीजें है जो इसे बाकी धर्मों की तुलना से भिन्न तो बनाती ही हैं साथ में एक ऐसा आधार भी देती हैं जो इसे मानने वालों को गर्व भी प्रदान करती हैं। हिन्दू
आगे पढ़ें…

बद्रीनाथ धाम से जुड़ी सारी जानकारी | Badrinath Kaise Jaye

badrinath_kaise_aye

जय श्री राम मित्रों ! जैसा की आप जानते हैं कि हिन्दू धर्म के चार धाम बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री है। सनातन धर्म में चार धाम तीर्थ यात्रा का बहुत महत्व है। हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु इन धामों की यात्रा करते हैं। इन्हीं चार धामों में से एक प्रसिद्ध धाम है बद्रीनाथ। बद्रीनाथ मंदिर जिसे बद्रीनारायण के नाम से भी पुकारा जाता है, एक प्रसिद्ध हिन्दू मन्दिर है। बद्रीनारायण धाम श्री हरि भगवान
आगे पढ़ें…

यशोदा जयंती कब मनाई जाती है | Yashoda Jayanti Vrat Katha

yashoda_jayanti_vratkatha_jaishreeram

हिन्दू धर्म में फाल्गुन माह त्योहारों के दृष्टिकोण से बहुत महत्वपूर्ण माह है। फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि को यशोदा जयंती मनाई जाती है। यह तो हम सभी जानते है कि भगवान श्रीकृष्ण ने माता देवकी के गर्भ से जन्म लिया था और माता यशोदा ने उनका लालन-पालन किया था। इन्हीं माता यशोदा के जन्मदिन को यशोदा जयंती के रूप में मनाया जाता है। यशोदा जयंती को भारत के साथ-साथ अन्य देशों में भी
आगे पढ़ें…

द्विजप्रिय संकष्टी पर इस तरह करें आदि देव गणेश जी की पूजा | Dwijapriya Sankashti Chaturthi

dwijapriya_sankashti_chaturthi_kabhai_jaishreeram

फाल्गुन मास की शुरूआत 06 फरवरी से हो रही है। इस महीने द्विजप्रिय संकटी चतुर्थी, महाशिवरात्रि, सोमवती अमावस्या, होली जैसे बड़े त्योहार पड़ते हैं। फाल्गुन मास का पहला व्रत संकष्टी चतुर्थी का है। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। मान्यता के अनुसार गौरी पुत्र भगवान गणेश के चार सिर और चार भुजाएं हैं। भगवान गणेश के इस स्वरूप की आराधना करने से सभी कष्टों का निवारण
आगे पढ़ें…

जया एकादशी व्रत कथा : Jaya Ekadashi Vrat Katha

jaya_ekadashi_vrat_katha

हिन्दू धर्म में माघ माह का बहुत महत्व है। माघ महीने के शुक्ल पक्ष में पडने वाली एकादशी भी विशेष महत्व रखती है। इस एकादशी को जया एकादशी कहते है। जया एकादशी को भीष्म एकादशी या भूमि एकादशी के नाम से भी पुकारा जाता है। जया एकादशी के बारे में शास्त्रों में बताया गया कि जो भी जातक जया एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा करता है और व्रत रखता है उसे मृत्यु के पश्चात पिशाच
आगे पढ़ें…