Ayodhya Ram Mandir Online Booking : अयोध्या राम मंदिर में आरती के लिए घर बैठे कैसे करें बुकिंग ?

ayodhya ram mandir online booking

जय श्री राम दोस्तों जैसे कि आप जानते हैं कि भगवान श्री राम लला का अभिषेक समारोह नए वर्ष के 22 जनवरी 2024 को निर्धारित किया गया है । श्री राम मंदिर के अधिकारियों ने बताया है कि यह समारोह 16 जनवरी से शुरू होकर 22 जनवरी 2024 तक सात दिनों की अवधि में आयोजित किया जाएगा । राम मंदिर के उद्घाटन से पहले, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र में आरती करना चाहते हैं तो आपके लिए
आगे पढ़ें…

सरल भाषा में जानिए वेद क्या है | वेद कैसे पढ़े | Ved in Hindi

वेद, प्राचीन भारत के पवित्र साहित्य हैं और हिन्दुओं के प्राचीनतम और आधारभूत धर्मग्रन्थ भी हैं । वेद मुख्यतः शब्दमय हैं और छंदोमय वाणी में हैं। वेद‘ शब्द संस्कृत भाषा के वेद् ज्ञान धातु से बना है। वेद का शाब्दिक अर्थ ‘ज्ञान‘ है। इसी धातु से ‘विदित‘ (जाना हुआ), ‘विद्या‘ (ज्ञान), ‘विद्वान‘ (ज्ञानी) जैसे शब्द आए हैं। वेद की मूल अवधारणा में आज तक कोई परिवर्तन नहीं हुआ। इसका कारण है उसके छंदबद्ध होने की अद्भुत शैली
आगे पढ़ें…

तिरुपति बालाजी दर्शन के नियम 2024 (Tirupati Balaji Darshan Ticket)

तिरूपति बालाजी मंदिर की अनोखी है महिमा, जाने मंदिर से जुडी सभी बातें । हिन्दू धर्म में देवी-देवताओं की उपासना के लिए मंदिरों का निर्माण किया गया है। मंदिर एक ऐसी जगह होती है जहां जाने से न सिर्फ हमें सकारात्मक ऊर्जा मिलती है बल्कि हमारे मन को शांति भी मिलती है। एक अनुमान के मुताबिक भारत देश में 10 लाख से भी ज्यादा मंदिर है। आज हम भारत के असंख्य मंदिरों में से अद्भुत और रहस्यों
आगे पढ़ें…

सिद्धिविनायक मंदिर की अनोखी है खासियत, जाने इस मंदिर से जुड़ी सारी जानकारी | Shri Siddhi Vinayak Ganapati Mandir

shri_siddhi_vinayak_ganapati_mandir_jaishreeram

आज कि पोस्ट “सिद्धिविनायक मंदिर दर्शन कैसे करें और सिद्धिविनायक मंदिर कैसे पहुंचे” में हमने आपको महत्वपूर्ण जानकारी दी है. हिन्दू धर्म में गणेश जी की पूजा का महत्व है। किसी भी नये कार्य को शुरू करने के पहले गणेश जी की पूजा का विधान है। किसी भी शुभ कार्य का प्रारंभ गणपति जी की आराधना के साथ किया जाता है। गणपति जी प्रथम पूज्य है। भगवान गणेश के भारत वर्ष में कई मंदिर है। इन्हीं मंदिरों
आगे पढ़ें…

अपनी राशि कैसे पता लगाएं | Apni Rashi Kaise Pata Kare

जय श्री राम मित्रों ! आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि कैसे जाने अपनी राशि (Apni Rashi Kaise Pata Kare), जन्मतिथि या नाम में से कौन सी राशि अधिक प्रभावी होती है. हमारे दैनिक जीवन में राशि का बड़ा महत्व होता है। आज के समय में हर व्यक्ति यह जानना चाहता है कि उसकी राशि कौन सी है क्योंकि उस राशि के द्वारा ही वह अनुमान लगाता है कि आज के दिन उसके जीवन में
आगे पढ़ें…

पितृ दोष क्या होता है | पितृ दोष निवारण के सरल उपाय | Pitra Dosh Kya Hota Hai

पितृ दोष के चलते जीवन में आती है परेशानियां, इन उपायों को करने से दूर होगा पितृ दोष हिन्दू धर्म में पितरों का प्रमुख स्थान है। जब किसी मनुष्य की मृत्यु हो जाती है तो वह पितर बन जाता है। पितरों को भगवान का दर्जा दिया गया है। हिन्दू धर्म में पितृ पक्ष में पितरों का श्राद्ध किया जाता है। जिस तिथि को उनकी मृत्यु हुई होती है उसी तिथि पर उनका श्राद्ध किया जाता है। उस
आगे पढ़ें…

उज्जैन महाकाल मंदिर के दर्शन | Ujjain Mahakal Mandir Ke Darshan Kaise Kare

ujjain_mahakal_mandir_ke_darshan_jaishreeram

महाकालेश्वर की अनोखी है महिमा, जानिए महाकाल के बारे में सभी कुछ हिन्दू धर्म में बहुत सारे प्राचीन मंदिर और तीर्थ स्थान है। इन तीर्थ स्थानों में भोलेनाथ के शिवालयों की महिमा अपरम्पार है। देश भर में भोलेनाथ के मंदिरों और शिवालयों की संख्या लाखों में है। इन्हीं शिवालयों में भोलेनाथ के 12 ज्योतिर्लिंग भी आते है। ये ज्योतिर्लिंग देश के अनेक राज्यों में स्थापित है। इन सभी ज्योतिर्लिंगों का अपना-अपना महत्व है। मान्यता है कि इन
आगे पढ़ें…

पापमोचिनी एकादशी व्रत कथा | Papamochani Ekadashi in Hindi

papamochani_ekadashi_vratkatha_hindi

सभी पापों को नष्ट करता है पापमोचिनी एकादशी का व्रत, जाने व्रत की पूरी विधि व कथा हिन्दू धर्म में व्रत, उपवास का बहुत अधिक महत्व है। व्रत को रखने के पीछे आध्यात्मिक व वैज्ञानिक दोनों कारण होते हैं। व्रत रखने से शरीर स्वस्थ और मन शांत होता है। अलग-अलग तिथियों पर अलग-अलग व्रतों को रखने की परंपरा है। हर व्रत का अलग-अलग महत्व भी होता है। इन्हीं व्रतों में से एक है एकादशी का व्रत। एकादशी
आगे पढ़ें…

शीतला अष्टमी कब है, जानिए कैसे करनी चाहिए इस दिन शीतला माता की पूजा

sheetala ashtami kab hai

हिंदू धर्म में अनेक व्रत त्योहार होते हैं। हर त्योहार का एक विशेष महत्व होता है। 8 मार्च, 2023 से चैत्र मास की शुरूआत हो गई है। चैत्र मास में अनेक व्रत त्योहार पड़ते हैं। इन्ही त्योहारों में एक हैं शीतला अष्टमी का त्योहार। शीतला अष्टमी का त्योहार चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इसे बसोडा के नाम से भी जाना जाता हैं। शीतला अष्टमी के दिन माता शीतला की पूरे
आगे पढ़ें…

होली क्यों मनाई जाती है | Holi Kyu Manaya Jata Hai

Holi Kyu Manaya Jata Hai Hindiji

होली स्पेशल: घर की सुख-समृद्धि के लिए होली के दिन जरूर करें ये उपाय हिन्दू धर्म में होली पर्व एक प्रमुख त्योहार होता है। होली का त्योहार दो दिन मनाया जाता है। एक दिन होली जलाई जाती है जिसे होलिका दहन कहते हैं, दूसरे दिन रंगों वाली होली खेली जाती है जिसे धुलंदी भी कहते है। सभी लोग मिलकर एक दूसरे को रंग, अबीर गुलाल लगाते हैं। एक दूसरे के गले लगते है और बधाईयां देते है।
आगे पढ़ें…